अस्थमा से बचाव के घरेलू उपाय Home remedies to prevent Asthma

अस्थमा (दमा) से बचाव के घरेलू उपाय Home remedies to prevent Asthma

अस्थमा या दमा कोई ऐसी बीमारी नहीं है जिस पर काबू न पाया जा सकें। अस्थमा सांसो से जुड़ी एक समस्या है जो कई कारणों से हो सकता है। जैसे की- प्रदूषण, धूल-धुआं, बदलता हुआ मौसम, किसी तरह की एलर्जी और किसी भी चीज से तेज सुगंध के कारण अस्थमा की समस्या उत्पन्न हो सकती है। अस्थमा से बचाव के लिए सबसे अच्छा तरीका है घरेलू उपाय, क्योंकि ये तो सभी जानते है कि विदेशी दवाईयों का असर केवल कुछ समय तक ही अस्थमा के मरीज को राहत पहुंचा कता है लेकिन जैसे ही मौसम में बदलाव या प्रदूषण के संपर्क में आयेंगे, अस्थमा या दमा का अटैक आने का खतरा बढ़ जाता है और इसी कारण दमा के मरीजों को अपनी सेहत का खास ख्याल रखना पड़ता है। आज हम बात करेंगे अस्थमा से बचाव के घरेलू उपायों के बारे में साथ ही इसे किस तरह से जड़ से खत्म कर सकते है इसके बारे में भी जानेंगे।

Asthma

Asthma

अस्थमा (दमा) से बचाव के लिए सबसे सटीक तरीका: Best way to prevent asthma 

  • शहद और आंवला पाउडर:

आंवला पाउडर: 2 टी-स्पून

शहद       : 1 टी-स्पून

आंवला में विटामिन सी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, कैरोटीन और विटामिन-बी कॉम्पलेक्स पाया जाता है जो आपको अस्थमा से हमेशा के लिए छुटकारा दिला सकता है।  इसके लिए आप रोजाना 2 छोटे चम्मच आंवला पाउडर में 1 चम्मच शहद मिला कर सुबह खाली पेट खाए। साथ ही इसके खाने के तुरंत बाद कुछ न खाएं। आंवला और शहद का सेवन आप कम से कम 45 दिनों तक लगातार करें। 

आंवला पाउडर आपको पास के किसी भी पंसारी या पतंजलि स्टोर से आसनी से मिल जाएगी।

  • सूखे अंगूर और बड़ी इलाइची

सूखे अंगूर   : 4-5  पीस

बड़ी इलाइची : 1 पीस

सूखे खजूर   : 1-2 पीस

शहद       :1 छोटा चम्मच

अंगूर में विटामिन सी, फाइबर, कॉपर, पोटैशियम, जिंक, आयरन, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इन्फेक्शन प्रॉपर्टी पायी जाती है जो शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाती है। जिन लोगों को अस्थमा बहुत ज्यादा परेशान कर रही हो उन लोगों के लिए यें घरेलू उपाय काफी असरदार होता है। इसके लिए आप सूखे अंगूर, बड़ी इलाइची, और सूखे खजूर को एक साथ बारीक पीस कर सुबह खाली पेट शहद के साथ खाएं। लगातार दो हफ्तों तक इसका सेवन करें फायदा जरूर होगा।     

  • सोंठ और तुलसी सबसे असरदार

सोंठ पाउडर: 1 छोटा चम्मच

तुलसी के पत्ते : 4-5 ताजें

हींग : चुटकी भर

सेंधा नमक या काला नमक : आधा छोटा चम्मच

सोंठ अदरक का ही एक रूप है जिसे सूखा दिया जाता है साथ ही तुलसी के पत्ते आपको कई बड़ी बीमारियों से बचाने में काफी सहायक होती है। इसमें सीने में जमी कफ को जड़ से खत्म करने वाले गुण मौजूद होते है जो खांसी में भी काफी असरदार होता है। सोंठ में प्रोटीन, नाइट्रोजन, अमीनो एसिड, कैल्शियम, विटामिन-बी, विटामिन-सी और आयरन पाया जाता है। अस्थमा को ठीक करने के लिए रोजाना सोने से कुछ देर पहले सोंठ पाउडर 1 छोटा चम्मच, 4-5 ताजें तुलसी के पत्ते, चुटकी भर हींग और आधा छोटा चम्मच सेंधा नमक या काला नमक मिला कर एक साथ खाएं। ध्यान रखें कि इसके सेवन के तुरंत बाद सोने न जाएं।

इसके अलावा एक चम्मच सोंठ पाउडर में एक चम्मच मुलहठी मिला कर सेवन करने से पुरानी से पुरानी खांसी ठीक हो जाती है। साथ ही खांसी के कारण अगर सीने में बलगम जमा हो जाता है तो वों भी सोंठ के सेवन से ठीक हो जायेगा।   

  • मेथी के दानें और अदरक

मेथी दानें     :  2 छोटे चम्मच

अदरक का रस :   1 छोटा चम्मच

शहद        : 1 छोटा चम्मच

मेथी दानों में प्रचूर मात्रा में फाइबर, आयरन, पोटाशियम, जिंक, कॉपर, एंटी-इंफ्लामेटरी, एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्व पाए जाते है। इसके सेवन से आप कई बीमारियों से बच सकते है। इसके लिए आप 2 छोटे चम्मच मेथी दानों का पाउडर बना लें, 1 छोटा चम्मच अदरक का रस और 1 छोटा चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार खायें। इसके सेवन से आपको अस्थमा से आराम मिल जाएगा। साथ ही अगर आपको सर्दी या खांसी की समस्या हो रही है तो भी इस पेस्ट को खाने से तुरंत राहत मिल जाएगी।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2019 Gharelu Upay| All Rights Reserved.