बदलते मौसम में कैसे बचे वायरल से: how to prevent viral!

बदलते मौसम में अक्सर आप वायरल का शिकार हो जाते है। खासकर छोटे बच्चों की इम्यूनिटी के कमजोर होने की वजह से बीमार होना आम होता है। बच्चों को वायरल फीवर होने की समस्या दिन प्रति दिन बढ़ रही है। ऐसे में सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप अपने बच्चों की इम्यूनिटी लेवल को मजबूत करें। साथ ही कैसे करें वायरल में बच्चों की देखभाल, इसके घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे।

वायरल फीवर होने के लक्षण:

  1. गले में तेज दर्द होना और जुखाम होना
  2. शरीर में तेज दर्द और थकान होना
  3. सूखी या कप वाली खांसी का लगातार होना
  4. तेज सिर में दर्द होना
  5. त्वचा पर लाल निशान पड़ना और आंखों में जलन होना

कैसे करे इसका तुरंत समाधान वायरल फीवर होने पर सबसे पहले आप डॉक्टर के पास ही भागते है, लेकिन उससे अच्छा है कि पहले आप कुछ घरेलू उपायों को अपनाएं। इससे वायरल में मरीज को काफी आराम मिलता है। दोस्तों वायरल 5 से 6 दिनों तक रह सकता है और यदि ठीक से देख भाल नहीं की गई तो बुखार कई बार जानलेवा हो सकता है। इस लिए जब भी आपको वायरल के लक्षण का आभाष हो तो इन इलाजों को जरूर करें।

वायरल से बचने के लिए करें ये अचूक घरेलू उपाय:

साबूत धनिया से करें झट से बुखार दूर:

जी हां, साबूत धनिया वायरल फीवर को तुरंत दूर करने में काफी सहायक होता है. इसके लिए आप एक बड़ा चम्मच साबूत धनिया को एक गिलास पानी में डाल कर उबालें। जब पानी आधा हो जाए तो गैस बंद कर दें। इसके बाद पानी को एक कप में छान ले और नेचूरल तरीके से ठंडा करें। जब पानी हल्का गुनगुना रह जाए तो इसमें आधा चम्मच चीनी और 4 चम्मच पका हुआ दूध डाल कर मिला लें और फीवर के मरीज को पीने के लिए दे। इसे चाय की तरह धीरे-धीरे पीए। रात को इस रेमेडी का इस्तेमाल करके देखें। सुबह तक फीवर पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।

लहसुन से करें फीवर को बाय-बाय:

दोस्तों, लहसुन हमारी इम्यूनिटी को काफी तेजी से मजबूती देता है। लहसुन में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है जो हमारे शरीर में मौजूद हानिकारक जीवाणु को खत्म करके हमारे रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ा देते है। वायरल फीवर से बचने के लिए आप करीब 4 लहसुन की कली को छील कर एक चम्मच शहद में डाल कर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह उठ कर शहद वाले लहसुन को मरीज को खिलाएं। इसके बाद शाम के लिए भी 4 लहसुन की कलिया शहद में डाल कर शाम कर खिलाएं। 24 घण्टे में वायरल फीवर से आराम मिल जाएगा।

दोस्तों, वायरल फीवर के दैरान डॉक्टर्स से भी सलाह लेना बेहद जरूरी है। तो ध्यान रखे कि अगर किसी को बार-बार वायरल फीवर हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। क्योंकि हो सकता है कि यें किसी अन्य बीमारी के लक्षण हो। तो ध्यान रखें की किसी भी तरह की लापरवाही करना आपके लिए काफी खतरनाक हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2019 Gharelu Upay| All Rights Reserved.